Posted by: ramadwivedi | अगस्त 14, 2006

बलिदान चाहिए

मेरे देश को भगवान नहीं,सच्चा इंसान चाहिए,
गांधी-सुभाष जैसा बलिदान चाहिए।

इंसानियत विलख रही इंसान ही के खातिर,
इंसाफ दे सके जो ऎसा सत्यवान चाहिए…..
मेरे देश को भगवान नहीं सच्चा इंसान चाहिए।

बचपन यहां पे देखो बन्धुआ बना हुआ है,
दिला सके जो इनको मुक्ति ऎसा दयावान चाहिए….
मेरे देश को भगवान नहीं सच्चा इंसान चाहिए।

मुखौटों के पीछे क्या है कोई जानता नहीं है,
दिखा सके जो असली चेहरा ऎसा महान चाहिए….
मेरे देश को भगवान नहीं सच्चा इंसान चाहिए।

रोज़ मर रहे हैं यहां कुर्सी के वास्ते,
जो देश के लिए जिए-मरे,ऎसा इक नाम चाहिए….
मेरे देश को भगवान नहीं सच्चा इंसान चाहिए।

सदियों के बाद भी जो इंसां न बन सकी है,
समझ सके जो इनको इंसान,ऎसा कद्र्दान चाहिए…
मेरे देश को भगवान नहीं सच्चा इंसान चाहिए।

मेहनत से नाता टूटा सब यूंही पाना चाहें,
गीतोपदेश वाला कोई श्याम चाहिए…
मेरे देश को भगवान नहीं सच्चा इंसान चाहिए।

डा. रमा द्विवेदी

© All Rights Reserved

Advertisements

Responses

  1. बहुत बढीया जनाब
    आपको 59 वां आज़ादी वर्ष की बधाई और
    जय हिन्द

  2. Punjab For fighting, Bengal for writing, Kashmir for beauty, Rajasthan for history, Maharashtra for victory, Karnataka for silk, Haryana for milk, Kerela for brains, UP for grains, HP for appales,
    Orissa for temples, MP for tribals, Bihar for minerals, States for unity India for Integrity

    So Be Proud To Be INDIAN
    Wishing You A Very Happy Independance Day.

  3. बहुत बधाई स्वतंत्रता दिवस की.

    समीर लाल

  4. भर दे फिर से जोश, ऐसा कोई गीत चाहिए,
    चले कदम मिला कर हम, ऐसी प्रित चाहिए.
    भारत हैं छोटा, सारा जहान चाहिए.
    मेरे देश को भगवान नहीं सच्चा इंसान चाहिए।


एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: