Posted by: ramadwivedi | अप्रैल 24, 2007

चमचे का कमाल (एक हास्य-व्यंग्य कविता)

आजकल हर जगह चमचे आ गये हैं,
प्रशंसा पाने के सस्ते ढंग लोगों को भा गये हैं।
इसलिए आज से चमचे खरीदने का काम करो,
फिर चाहे जो कहो,वाहवाही पाने का नाम करो॥

आजकल चमचों का धंधा बड़े जोरों पर चल रहा है,
जहां देखो, जिसे देखो वही चमचा बन रहा है।
यहां छोटे-बड़े,फोर्क,मस्का लगाने वाले चमचे बिकते हैं,
आपको क्या चाहिए , यह आप सोच सकते हैं?

चमचों से चाहे जो , जैसा भी काम करवाईए,
सभाओं में चमचों से तालियां पिटवाइए ।
और क्या-क्या कहें ज़नाब नई-नई चालें फ़्री पाइए?
हर्रा लगे न फिटकरी , फिर भी रंग चोखा पाइए॥

यही तो प्रजातन्त्र का कमाल है ,
जिसके पास चमचे हैं वही खुशहाल है।
काम करें चमचे और आप करें कैश,
दुनिया जाए भाड़ में ,आप घर बैठे करें ऐश ॥

कभी खुद चमचे बनते हैं,या किसी को बनाते हैं,
येन-केन-प्रकारेण अपना नाम कमाते हैं।
अगर कोई मुसीबत आ भी जाए तो,
चमचों पर ड़ाल खुद बरी हो जाते हैं॥

चमचों की जरूरत क्या नेता को ही होती है ?
या चमचों की जरूरत सृजेता को भी होती है।
संकल्प-शक्ति वाले इसके मोहताज़ नहीं होते,
दूसरों के बल पर कभी सरताज़ नहीं होते ?

प्रधान-मंत्री से मंत्री तक सब चमचे पाल रहे हैं ,
यहां तक कि सृजेता भी इससे अछूते नहीं रहे हैं ।
सबको काम कम , नाम ज्यादा चाहिए,
इसलिए हम सबको चमचे पालने चाहिए ॥

डा. रमा द्विवेदी
© All Rights Reserved

Advertisements

Responses

  1. 🙂 बढ़िया मजेदार है. 🙂

  2. चम्मचे के बिना जैसे भोजन पकाना, खाना, खतरनाक है।
    चम्मचे ही नहीं जिसके, वह नेता नहीं, बिल्कुल खाक़ है।

  3. समीर जी,आपकी वाह भी कम मजेदार नहीं होती…शुक्रिया..

    हरीराम जी सही कहा आपने चमचें के बिना सब बेकार है…..आभारसहित..

    डा. रमा द्विवेदी

  4. WAH BAI WAH
    JANAB ABB TO HADD HO GAI CHAMCHA PATERKARO OR CHAMCHA WEBSITES NAE TO CHAMCHA DHARM KO NAI BULANDIO PAE PAHUNCHA DIA HAI.
    ND TIWARI JAB SAE SEX SCANDLE MAE FANSEY HAI OOR ISTEEFA DAE KAR UTTRAKHAND BAGH GAE HAI TAB SAE INN CHAMCHON NAE UNN KI UTTRAKHAND KI NAI RAJNEETIK PARI KO SET KARNEY K LEY APNI SERVICES DENI SHURU KAR DI HAI
    LAHNAT HAI

  5. Bahut hi khoob ………..


एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: