Posted by: ramadwivedi | नवम्बर 19, 2007

हरियाली हर ले जाते हो

       तुझमें मुझमें बस इक अन्तर,
       तुम नर हो अरु मैं नारी हूं।
       देती हूं जन्म मैं जीवन को,
       तुम जीवन को ठुकराते हो॥

       संबंधों का मैं संबल बनती,
       अरु प्रेम की ज्योति जगाती हूं।
       करती प्रयास मंगल का मैं,
       तुम नफ़रत को फैलाते हो॥

       मैं फूलों की कोमलता हूं,
       तुम मधुकर कठोर बन जाते हो।
       लेकर के रस सब फूलों का,
       अन्यत्र खोज में जाते हो॥

       करती हूं प्रतीक्षा सदियों तक,
       तुम पल भर में घबराते हो।
       रहती हूं मौन त्याग करके,
       तुम पल-पल हमें जताते हो॥

       खोने का डर तो तुमको है,
       इसलिए झपट सब लेते हो।
       कहने को कुछ नहीं पास मगर,
       फिर भी इतिहास रचाते हैं॥

       सरिता सलिला सी बहती हम,
       सिंचित करती हैं जीवन को।
       तुम रहते स्थिर एक जगह,
       कूलों सा कठोर बन जाते हो॥

       वन-उपवन की सुन्दरता हम,
       तुम पतझड़ बन कर आते हो।
       करते हो तांड़व नृत्य तुम्हीं,
       हरियाली हर ले जाते हो॥

       संघर्षों में जी लेते हम,
       तुम सुख को गले लगाते हो।
       करते हो सुख परिवर्तन भी,
       बादल बन उड़-उड़ जाते हो॥

        डा. रमा द्विवेदी
© All Rights Reserved

Advertisements

Responses

  1. करती हूं प्रतीक्षा सदियों तक,
    तुम पल भर में घबराते हो।
    रहती हूं मौन त्याग करके,
    तुम पल-पल हमें जताते हो॥

    करती हूं प्रतीक्षा सदियों तक,
    तुम पल भर में घबराते हो।
    रहती हूं मौन त्याग करके,
    तुम पल-पल हमें जताते हो॥

    बहुत सुंदर पंक्तियाँ! नारी मन इन भावनाओं अच्छी तरह समझ सकता है।

  2. कंचन जी,

    बहुत बहुत शुक्रिया इस स्नेह के लिए।

  3. मन को छूता संवेदना से भरपूर गीत. बधाई हो

  4. अति सुंदर! नारी की भावनाओं का सुंदर विश्लेषण कविता के रूप में किया है। ‘कामायनी’
    की ‘श्रद्धा’ याद आजाती है।
    खोने का डर तो तुमको है,
    इसलिए झपट सब लेते हो।
    कहने को कुछ नहीं पास मगर,
    फिर भी इतिहास रचाते हैं॥
    ऐसी सुंदर रचनाओं के लिए धन्यवाद।
    महावीर शर्मा


एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: