Posted by: ramadwivedi | अक्टूबर 1, 2011

` द सन्डे इंडियन’ इक्कसवीं सदी की १११ हिन्दी लेखिकाओं में `डा. रमा द्विवेदी’ शामिल

>हिंदी की हैदराबादी सुर
डॉ. रमा द्विवेदी

हमीरपुर (उत्तर प्रदेश) में 1953 में पैदा हुईं डॉ. रमा द्विवेदी ने गीत, गजल, मुक्तक, क्षणिकाएं, हाइकू , छंद मुक्त कविता, कहानी, लेख, समीक्षा जैसी तमाम विधाओं में अपनी लेखनी चलाई है. अखिल भारतीय कवयित्री समेलन, खुर्जा द्वारा प्रकाशित ‘कविता’ के अलावा ‘पुष्पक’ के कई अंकों का संपादन कर चुकी हैं. रमा जी की दो पुस्तकें – ‘दे दो आकाश’ और ‘ रेत का समंदर’- प्रकाशित हो चुकी हैं. एक अन्य पुस्तक- ‘ संवेदनाओं का पुल’- प्रकाशित होने वाली है. इंटरनेट पर साहित्य से जुड़ी ई-पत्रिकाओं पर रमा जी की रचनाएं सर्वत्र सुलभ हैं.

here is link
http://thesundayindian.com/hi/story/womens-writings-in-hindi/7/7353/

Advertisements

Responses

  1. हिन्दी की हैदराबादी सुर-साधना को हार्दिक बधाई ।

  2. हार्दिक बधाई…
    आदरणीय रमा जी,
    आपने अपने हाइकुओं पर आधारित हाइगा देखाऔर मेरा उत्साह बढ़ाया,इसके लिए आभार|
    यदि आप hindihaiga@gmail.com पर अपना email address दे सकें तो हिन्दी हाइगा की गतिविधियाँ आपको भी सूचित कर पाउँगी|अभी फिलहाल रचना जी के हाइकुओं पर आधारित हाइगा प्रकाशित हैं|
    सादर
    ऋता

  3. बधाई और शुभकामनाएं !


एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: