Posted by: ramadwivedi | अक्टूबर 12, 2014

समाज का एक वीभत्स चेहरा

आज मन बहुत उदास है क्योकि आज हमारे गाँव के पड़ोस की नव -विवाहित लड़की के पति की अकस्मात् ब्लड कैंसर से मृत्यु हो गई ,,विवाह के सिर्फ कुछ महीने ही हुए थे और लड़की सिर्फ एक बार ही अपने पति से मिली थी । ससुरालवालों ने लड़की को यह कह कर बुलवाया कि गहने कपडे लेकर आये लड़का बीमार है जबकि लड़का गुजर चुका था । लड़की को लेकर जब उसके घरवाले पहुँचे जब उसे लड़के के बारे में पता चला लड़की सदमे से बेहोश हो गई पर कोई औरत न तो उसके पास गई न पानी पिलाया बल्कि कमरे में बंद कर दिया ,,,सुनकर मेरी रूह काँप जाती है । लड़की के घरवालो ने बेहोश लड़की को उठा कर गाड़ी में डाला और तेजी से भाग निकले क्योकि लड़के वाले बन्दूक लेकर मारने के लिए दौड़े बहुत मुश्किल से जान बचा कर लड़की को ला पाये । कैसा क्रूर है यह ठाकुर समाज ? बाहुबली ठाकुर जो चम्बल के इलाके में रहते है क्या सब डाकू हैं । यहां पर आज भी औरतों के साथ जानवर से बदतर व्यवहार होता है और स्त्रियों का उपयोग एक वस्तु की तरह होता है ,,उसकी पीड़ा से किसी को कोई मतलब नहीं । इक्कीसवी सदी में जब हम चन्द्रमा और मंगलयान की उपलब्धि पर खुश होते है वही हम क्रूरतम समाज और उसकी सोच को नहीं बदल पा रहे ? कौन है इस सबका जिम्मेदार ? क्या कानून कुछ भी नहीं कर सकता औरतो के बेहतर जीवन के लिए ? औरतो के अच्छे दिन कब आयेगे ? क्या अब भी उन्हें शताब्दियों तक इंतज़ार करना पड़ेगा ? ईश्वर इन नर भेडियो को सदबुद्धि दे । चाँद और मंगल के रहस्य जानकार भी क्या होगा जब जमीन पर ही इतनी भयावह समस्याएँ हैं ,,,हमें और सरकार को पहले उनका समाधान ढूढ़ना चाहिए और मानव समाज को बेहतर बनाना चाहिए ।

डॉ रमा द्विवेदी

Advertisements

Responses

  1. Reblogged this on oshriradhekrishnabole and commented:
    समाज में पैदा होने वाले ये भेडिये हमेशा कमजोर न्याय व्यवस्था का माखौल उड़ाते नजर आते ,कठोरत से कठोर जाॅच और ही दुराचारियों के मन में खौफ पैदा करेगा,,

  2. sahi kah rahe hai oshrivastava ji


एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: