Posted by: ramadwivedi | दिसम्बर 17, 2014

पेशावर में हुए आतंकी हमले के शिकार हुए बच्चों के लिए अश्रुपूरित मन से श्रद्धांजलि :( कुछ हाइकु

1 -आतंकी आग
भस्म हो गए बच्चे
खुदा क्यों मूक ?

2 -कैसी ये ज्वाल
देखकर रोया खुदा
स्वाहा -मासूम ।

3 -कलेजा फटा
माताओं का रुदन
थामें न थमा ।

4 -विनाश काल
खुद ही काटता है
खुद की डाल ।

5 – चूल्हा न जला
आँखों में समंदर
कहाँ हैं लाल ?

6 – बने बेजान
दिल का टुकड़ा खो
जीवित -लाश ।

7 -रक्त है लाल
अपना हो पराया
दर्द की ज्वाल ।

8 – भरेगा घड़ा
होगी नेस्तनाबूंद
जेहादी आग ।

9 -लगाईं आग
बच न पायेगा वो
रखो विश्वास ।

10 – देर से सही
सत्य जीत जायेगा
कृष्ण आएगा ।

डॉ रमा द्विवेदी

Advertisements

Responses

  1. बहुत -बहुत शुक्रिया Oshrivastava ji


एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: