Posted by: ramadwivedi | सितम्बर 6, 2017

बाबाओं की धूर्तता -कुंडलियां छंद

बाबाओं की धूर्तता ,समझ न पाते लोग
स्वारथ में अंधे हुए ,लगा विकट यह रोग
लगा विकट यह रोग , बहिन -बेटी दे आते
करें न सोच विचार , उन्हें भगवान बताते |
सुरा -सुंदरी लिप्त , सुरक्षा फ़ौज खड़ी की
नेताओं तक पहुँच, बढ़ी है बाबाओं की ||

*** डॉ रमा द्विवेदी ***

 

 

 

Advertisements

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: