Posted by: ramadwivedi | जून 29, 2018

ऑनर किलिंग -लघुकथा

“ यह पुलिस यहाँ  क्यों आई है ”? शांता ने  पड़ोसन से पूछा |
 “उनकी लड़की की लाश खेत में जलती हुई मिली ”|  पड़ोसन ने बताया  |
“क्या ! यह कैसे हो गया ,किसने मारा उसे ”? शांता ने पूछा |
“सुनते हैं वह अपने ही पड़ोस के लड़के से प्रेम करती थी और शादी करना चाहती थी  | लड़की के पिता को यह पसंद नहीं था इसलिए उन्होंने लड़के को फंसाने के लिए उसे मारकर खेत में फेंक दिया और जला दिया  ”| पुलिस ने  तहकीकात करके इसे “ऑनर किलिंग”  का मामला बताया है और  माता -पिता को गिरफ्तार करने आई है  |  पड़ोसन ने बताया |
शांता ने आह भरकर कहा -“ प्रेम करने की इतनी क्रूरतम  सज़ा पिता ने दे दी ?  क्या प्रेम करना इतना बड़ा गुनाह है ”? कई ऐसे ही प्रश्नों  ने मन-मष्तिष्क को झकझोर दिया  और मुंह से इतना ही निकला -“हे   ईश्वर इन दुष्टों को सद्बुद्धि देना ”  |
**डॉ. रमा द्विवेदी **

 

 

Advertisements

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: