Posted by: ramadwivedi | जुलाई 23, 2019

घनाक्षरी

देश मेरा मुझे प्यारा , दुनिया में है जो न्यारा ,
पल -पल टूट रहे , देश को बचाइए ||
राजनेता चलें चाल , जनता हुई बेहाल
सो रहे जो आँख मूँद ,उन को जगाइए ||
खुद से करें सवाल ,क्यों मचा है ये बवाल ,
शत्रुओं को बीन -बीन ,जेल भिजवाइए ||
चले नहीं कोई चाल , ठीक से लें देखभाल
जनम -भूमि के लिए , कुर्बान हो जाइये ||

**डॉ. रमा द्विवेदी **

Advertisements

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: